कृषि सम्मेलन – Farmer’s meet in Uttarkashi

IMG_20180320_181337पर्वतीय किसानों का एकदिवसीय कृषि सम्मेलन
सौजन्य से- हिमालय ट्रस्ट, हिमोत्थान एंव हंस फाउडेशन
स्थान- गणेशपुर- उत्तरकाशी दिनांक- 19 मार्च 2018

दिनांक 19 मार्च 2018 को एक दिवसीय किसान सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें 15 गांव के 195 किसानों ने प्रतिभाग किया इस दौरान सम्मेलन में मुख्य कृषि अधिकारी महोदय श्री महिधर तोमर जी, उधान प्रभारी श्री प्यार सिंह राणा जी, हिमालय ट्रस्ट कार्यकरणी सदस्य सुत्री पुष्पा चौहान जी, परियोजना प्रबन्धक रिलांयस फाउडेशन श्री कमलेष गुरानी जी, एकीकृत आजीविका परियोजना से बन्धना जी, गंगोत्री स्वायत सहकारिता अध्यक्ष श्रीमती विजनदेई राणा जी, गंगोत्री स्वायत सहकारिता की संरक्षक श्रीमती माहेश्वरी भटट जी एंव गंगोत्री स्वायत सहकारिता सदस्य, गा्रम प्रधान नेताला, डिडसारी, संगा्रली, बयाणा, हिना,, औगीं, एंव महिला मंगल दल अध्यक्ष एंव स्वंय सहायता समूह द्वारा प्रतिभाग किया गया।

सभी अथितियों एंव प्रतिभागियों का स्वागत कर कार्यक्रम का आरम्भ किया गया । संस्था एंव परियोजना के इन 15 गांवो में सरकारी विभाग, अन्य गैरसरकारी विभाग भी कृषि के क्षेत्र में कार्य कर रहें इसलिए यह सम्मेलन आवश्यक था कि सभी विभाग एंव गैरसरकारी विभाग साथ मिलकर समुदाय में कार्य करने का प्रयास करें। इसी परिपेक्ष में सर्व प्रथम हिमालय ट्रस्ट कार्यकरणी सदस्य व गा्रम प्रधान गणेशपुर सुत्री पुष्पा चौहान जी द्वारा पर्वतीय कृषि समृद्वीकरण परियोजना के बारे में जानकारी दी और साथ ही समुदाय की समस्याओं पर प्रकाश डाला उनके द्वारा बताया गया कि जंगली जानवरों से कैसे फसलों को बचाया जाय उनके द्वारा बताया गया कि जंगली जानवारो से फसलो को बचाने में भी चौकीदार रखने पर भी खर्चा वहन करना पढता है उनके द्वारा घेर भाड हेतु रिलांयस फाउडेषन के कार्यो को सराहना करते हुये अनुरोध किया है कि वे इस के घेर -भाड कार्यो हेतु संस्था कार्यक्षेत्र में सहयोग प्रदान करने की कृपा करेगें।

उपरोक्त पश्चात कृषि अधिकारी श्री महिधर तोमर जी द्वारा संस्था एंव परियोजना के कार्यो की सराहना करतें हुये बताया कि हमें एक कलस्टर के रूप में खेती करने का प्रयास करना चाहिए साथ जानकारी दी गयी कि विभाग के पास व्यक्तिगत रूप से या समूह के रूप में कृषि य ंत्र क्रय करने हेतु सब्सीडी का प्राविधान है । श्री तोमर जी द्वारा किसानों को जारकारी दी गयी कि प्याज के बीज के साथ-साथ किसानों को अन्य फसलों के बीज जैसे धान, गेहूं उत्पादन पर कार्य करने का प्रयास किया जाना चाहिए जिसके विभाग की और पूर्ण सहयोग किये जाने का प्रयास करेगा।

रिलांयस फाउडेषन परियोजना प्रबन्धक श्री कमलेश गुरानी जी द्वारा सम्मेलन में निमत्रंण हेतु संस्था हिमालय ट्रस्ट शुक्रयी अदा करने के साथ किसानों को जानकारी दी कि जिस तरह से संस्था हिमालय ट्रस्ट ने गा्रम जामक में प्याज उत्पादन पर जोर दिया वह प्रशंनीय है इसी के तहत रिलांयस फाउडेशन ने इस गांव में पानी पंहूचाने का कार्य किया इसी तरह से हम सब को मिलकर कार्य करने की आवश्यता है । और जब-कभी हिमालय ट्रस्ट को हमारी आवश्यकता हो हम पूर्ण प्रयास करेगें संस्था का सहयोग करने में ।

गंगोत्री स्वायत सहकारिता संरक्षक श्रीमती माहेश्वरी भटट जी द्वारा संस्था एंव परियोजना का धन्यवाद के साथ कहा कि किसानों का इस तरह का सम्मेलन होने से हमारे मन में खेती की तरफ रूचि पैदा करता है और हमारी उत्तराखण्ड की खेती मात्र मातृ शक्ति पर निर्भर है इसलिए हिमालय ट्रस्ट एंव हिमोत्थान ने जो विगत तीन सालों से हमारे खेतों में जाकर जानकारी, एंव तकनीकी के साथ हमारी महिलाओं को कृषि के प्रति जागरूक किया। नेताला के लोग प्याज अपनी रिस्तेदारी से लाते थे लेकिन आज गांव नेताला में हमारी माताऐ स्ंवय प्याज उत्पादन कर रहे है जो माताऐं अधिक प्याज उत्पादन करती है उनका प्याज आसानी से नेताला के होटलों में बेच दिया जाता है यहां तक की कुछ माताऐं प्याज बीज उत्पादन की और भी कार्य करने लगे है। इसलिए हमारी माताओं एंव बहनों को संस्था का पूर्ण सहयोग करना चाहिए।

गा्रम प्रधान श्री जगतम्बा प्रसाद सेमवाल जी द्वारा कि हमारे अपने गांव के बीच में इस तरह का सम्मेलन होना हमारे किसानों एंव समूह सदस्यों के लिए एक खुषी की बात है और हम सबको इस प्रकार के कार्यो पूर्ण रूप से प्रतिभाग करना चाहिए । आज इस सम्मेलन में संस्था के द्वारा जो एल0 सी0 डी0 के माध्यम से बताने का प्रयास किया गया है कि कैसे हम लोगो द्वारा विगत वर्षो में तकनीकी सीखी है, मिलकर कर कार्य किया है कैसे समूह की बैठकों में प्रतिभाग किया है और एल0 सी0 डी0 के माध्यम से दिखाने का जो प्रयास किया गया है वह खेत, और किसान बाहर की नही बल्की हमारे आस-पास के है । जिससे हमें एक दुसरे से सीखने को मिलता है। पहले हमारे किसान धनिया को छोटे-2 स्तर पर लगाते थे जो स्ंवय के उपयोग तक सीमित था परन्तु आज हमारे किसान हरा एंव सूखा धनिया बाजार में बेचने लगे है।

श्री प्यार सिंह राणा उधान प्रभारी जी संस्था एंव परियोजना के कार्यो की प्रशंसा करते हुये जिक्र किया कि उनके द्वारा गांवो में जाकर देखा कि किसान संस्था के सहयोग से किस तरह प्याज बीज उत्पादन कर रहे है साथ ही किसान तकनीकी से भी खेती करने का प्रयास कर रहे है । इसी तरह किसानों को बागवानी,फूलों की खेती की और भी प्रयास करने चाहिए । श्री राणा जी द्वारा जानकारी दी गयी कि किसी भी किसान को यदि उधान विभाग से लाभ लेना है तो वे अपना उधान कार्ड अवश्य बना दें । विभाग के पास पावर टीलर हेतु तीन आवेदन आये थे जिसमें एक हिमालय ट्रस्ट के माध्यम से 1 पावर टीलर हेतु आवेदन आया था जो कि सर्वप्रथम उपलब्ध करवाया गया है। इसी तरह से विभाग संस्था और विभाग आगे भी मिलकर कार्य करने का प्रयास करेगें।

श्रीमती विजन देई राणा गंगोत्री स्वायत सहकारिता द्वारा जानकारी दी कि आप सभी किसानों के सहयोग से गंगोत्री स्वायत सहकारिता कृषि उत्पादों का विपणन कर रही है साथ ही आप सभी के सहयोग से पशु चारा युनिट हेतु स्थानीय उत्पाद एकत्रित किया जा रहा है और हमें गर्भ है कि हमारे बीच हमारा अपना पशु चारा युनिट है जहां पर पौष्टिक पशु अहार निर्मित कर हम और आप लोगों पौष्टिक पशु अहार मिल रहा है। इसी के साथ हमारी सहकारिता के दे आउटलेट जहां पर हम सभी को कृषि यंत्र एंव बीज समय पर मिल पाते है।

ंउपरोक्त पश्चात कुछ चयनित किसानों को पुरस्कृत गया जिसमें श्रीमती कुशुमा विष्ट हिना, श्रीमती पुष्पांजली देवी हिना, श्रीमती गंगा चौहान हिना, श्रीमती बीना नेगी हिना, श्रीमती कला पंवार हिना, श्री भरत सिंह रावत हिना, श्रीमती मीना असवाल मनेरी, श्रीमती त्रिपनी असवाल मनेरी, श्रीमती अनुराधा नौटियाल नेताला, श्रीमती हेमलता नेताला, श्रीमती जयेन्द्री असवाल नेताला, श्रीमती पूनम सेमवाल नेताला, श्रीमती कौषल्य मेहर सिरोर, श्री राम किषन मेहर सिरोर, श्रीमती सरिता चौहान गंगोरी श्रीमती निर्मला देवी संगा्रली । इन किसानों को क्रमश वाटर फिल्टर, प्लास्टिक पाईप, फुवारा, एंव शाल पुरस्कार के रूप में भेंट किया गया।

पुरस्कार वितरण के पश्चात समूह महिलाओं द्वारा रासों नृत्य किया गया जिसमें मुख्यतः संग्राली स्ंवय सहायता द्वारा प्रस्तुत किया गया। जो प्रयास किया गया है वह खेत, और किसान बाहर की नही बल्की हमारे आस-पास के है । जिससे हमें एक दुसरे से सीखने को मिलता है। पहले हमारे किसान धनिया को छोटे-2 स्तर पर लगाते थे जो स्ंवय के उपयोग तक सीमित था परन्तु आज हमारे किसान हरा एंव सूखा धनिया बाजार में बेचने लगे है।

श्री प्यार सिंह राणा उधान प्रभारी जी संस्था एंव परियोजना के कार्यो की प्रशंसा करते हुये जिक्र किया कि उनके द्वारा गांवो में जाकर देखा कि किसान संस्था के सहयोग से किस तरह प्याज बीज उत्पादन कर रहे है साथ ही किसान तकनीकी से भी खेती करने का प्रयास कर रहे है । इसी तरह किसानों को बागवानी,फूलों की खेती की और भी प्रयास करने चाहिए । श्री राणा जी द्वारा जानकारी दी गयी कि किसी भी किसान को यदि उधान विभाग से लाभ लेना है तो वे अपना उधान कार्ड अवश्य बना दें । विभाग के पास पावर टीलर हेतु तीन आवेदन आये थे जिसमें एक हिमालय ट्रस्ट के माध्यम से 1 पावर टीलर हेतु आवेदन आया था जो कि सर्वप्रथम उपलब्ध करवाया गया है। इसी तरह से विभाग संस्था और विभाग आगे भी मिलकर कार्य करने का प्रयास करेगें।

श्रीमती विजन देई राणा गंगोत्री स्वायत सहकारिता द्वारा जानकारी दी कि आप सभी किसानों के सहयोग से गंगोत्री स्वायत सहकारिता कृषि उत्पादों का विपणन कर रही है साथ ही आप सभी के सहयोग से पशु चारा युनिट हेतु स्थानीय उत्पाद एकत्रित किया जा रहा है और हमें गर्भ है कि हमारे बीच हमारा अपना पशु चारा युनिट है जहां पर पौष्टिक पशु अहार निर्मित कर हम और आप लोगों पौष्टिक पशु अहार मिल रहा है। इसी के साथ हमारी सहकारिता के दे आउटलेट जहां पर हम सभी को कृषि यंत्र एंव बीज समय पर मिल पाते है।

IMG_20180320_181403

ंउपरोक्त पश्चात कुछ चयनित किसानों को पुरस्कृत गया जिसमें श्रीमती कुशुमा विष्ट हिना, श्रीमती पुष्पांजली देवी हिना, श्रीमती गंगा चौहान हिना, श्रीमती बीना नेगी हिना, श्रीमती कला पंवार हिना, श्री भरत सिंह रावत हिना, श्रीमती मीना असवाल मनेरी, श्रीमती त्रिपनी असवाल मनेरी, श्रीमती अनुराधा नौटियाल नेताला, श्रीमती हेमलता नेताला, श्रीमती जयेन्द्री असवाल नेताला, श्रीमती पूनम सेमवाल नेताला, श्रीमती कौषल्य मेहर सिरोर, श्री राम किषन मेहर सिरोर, श्रीमती सरिता चौहान गंगोरी श्रीमती निर्मला देवी संगा्रली । इन किसानों को क्रमश वाटर फिल्टर, प्लास्टिक पाईप, फुवारा, एंव शाल पुरस्कार के रूप में भेंट किया गया। पुरस्कार वितरण के पश्चात समूह महिलाओं द्वारा रासों नृत्य किया गया जिसमें मुख्यतः संग्राली स्ंवय सहायता द्वारा प्रस्तुत किया गया।

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s